12th Non Medical के बाद क्या करे ?

12th ke baad kya kare

12th Non Medical के बाद क्या करे ?

हेलो दोस्तों मैं आप सभी छात्र छात्राओं का स्वागत आपके अपने ब्लॉग costudybuddy.com पर करता हूं दोस्तों आज के समय को देखते हुए हमें अपने भविष्य का चुनाव करना खुद के ही हाथों में होता है और इसे बहुत सोच समझ कर निर्णय लेना होता है हमारे चुनाव पर ही हमारा भविष्य निर्भर रहता है जिस भी काम में हमारा पूर्ण रूप से रूचि तथा भाव – मन होता है उसी काम को हमें अपने जीवन में उतारना चाहिए और किसी भी कार्य को करने से पहले हमें उस कार्य को पूरा करने के लिए पूरी एक योजना बना लेनी चाहिए अर्थात बनाने के बाद हमें किसी भी काम को करना चाहिए। 

12th Non Medical के नाम से यह स्पष्ट हो जाता है कि वह मेडिकल लाइन का नहीं है और नॉन मेडिकल लाइन में करियर बनाने के बहुत सारे विकल्प होते हैं इंजीनियर के अलावा भी कई सारे विकल्प होते है विज्ञान के छात्रों के लिए भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित जैसे विषयों में बहुत से विकल्प सफल भविष्य बनाने के लिए मिलते हैं किसी भी छात्र को भौतिक विज्ञान (Physics), रसायन विज्ञान(Chemistry), गणित (Mathematics) में से किसी एक में भी पूर्ण रूप से रुचि है तो वह उसी एक विषय को लेकर अपने भविष्य के लिए अग्रसर हो सकता है और अपने कैरियर अपने भविष्य को उजागर बना सकता है

तो आइए जानते हैं कि नॉन मेडिकल वाले छात्रों के लिए किन-किन क्षेत्रों में कैरियर विकल्प मौजूद हैं जैसे कि

Engineering: 

जो भी छात्र 12th नॉन मेडिकल लाइन से पास हुए हैं यह विकल्प वह चुन सकते हैं इंजीनियरिंग क्षेत्र में आपको प्रवेश लेने के लिए आपको Entrance Exam देना पड़ता है और Admission हो जाने के बाद system, device, machine प्रक्रिया का आविष्कार, निर्माण करना, डिजाइन बनाना, और रखरखाव करना इन सब का ज्ञान(Knowledge) आपको Engineering के क्षेत्र में मिलता है 

जो छात्र इंजीनियरिंग के क्षेत्र में B.Tech या B.Arch करने के लिए इच्छुक है और उसकी रूचि इंजीनियरिंग करने में है और वह Engineering College में प्रवेश लेना चाहते हैं उन छात्रों को Joint Entrance Examination JEE मैं online entrance के लिए अप्लाई करना पड़ता है 

Joint Entrance Examination को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा हर साल आयोजित किया जाता है ज्यादातर Engineering College Admission लेने के पूर्व आपसे एक Entrance Exam Qualify करवाते हैं अर्थात उसके बाद उन छात्रों का चुनाव करते हैं जो एग्जाम में क्वालीफाई हुए रहते हैं उसके बाद एडमिशन लेते हैं तो कुछ ऐसे प्राइवेट कॉलेज है जो डायरेक्ट एडमिशन ले लेते हैं आपके 12th के नंबरों के अनुसार आपका एडमिशन हो जाता है

इंजीनियरिंग में छात्र

BE, B.Tech In Electrical, Electronics, Mechanical, Civil Chemical, Environmental, Automobile, Aeronautical, Aerospace, Architecture,  Mechatronics, Production, Mining, Petroleum And Offshore Information Technolog And Software, Computer Science, Telecommunication, Power, Sound, Automation, Manufacturing Engineering, Applied Marine, Information Technology And Communication, Bio-medical Engineering, Aircraft Maintenance, Textile, Biotechnology, Production, Industrial, Agriculture Engineering Etc. पढ़ाई आप कर सकते हैं 

B.tech की Degree पूरी करने के बाद आप चाहे तो अपने Degree और Knowledge को बढ़ा सकते हैं B.tech करने के बाद आपका Graduation कंप्लीट जाता है और Post Graduation Course Master Of Engineering M.E या Master Of Technology M.Take के रूप में कर सकते हैं इन कोर्स की पढ़ाई को पूरा करने का समय 2 वर्ष का होता है

Post Graduation पूरा हो जाने के बाद अगर आपका मन आगे और पढ़ाई करने में है तो Doctor Of Philosophy(PHD) In Engineering PHD कर सकते हैं यह एक Advanced Research Course है इसको पूरा करने की अवधि 3 वर्ष की होता है

जानकारियों के लिए यह भी पढ़े

IIT (Indian Institute Of Technology) में प्रवेश लेने के लिए छात्रों को JEE Advance Exam को पास करना होता है M.tech Course में प्रवेश के लिए छात्रों को Graduate Aptitude Test इन इंजीनियरिंग के द्वारा प्रवेश परीक्षा को पास करना होता है

B.tech 

बेटी की डिग्री पूरी होने के बाद आपके पास बहुत सारे विकल्प हो जाते है एक अच्छे और सफल भविष्य बनाने के लिए बीटेक के Last Year में ही कुछ छात्रों का Selection Campus Placement के द्वारा हो जाता है बीटेक करने के बाद आपको सरकारी तथा प्राइवेट दोनों ही क्षेत्र में नौकरियां मिल सकती है अर्थात अगर आप अपना खुद का बिजनेस करना चाहते हैं तो आप अपने पढ़ाई और रुचि के द्वारा खुद की कंपनी भी चला सकते हैं बीटेक करने के बाद UPSC द्वारा आयोजित Indian Engineering Service (IES) परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं

M.tech

M.tech करने के बाद आपका माइंड इतने नॉलेज से भर जाता है कि आप किसी भी क्षेत्र में अपने आप को एक सफल इंसान के रूप में खड़ा कर सकते हैं M.tech की डिग्री उच्च डिग्री होती हैअर्थात प्राइवेट तथा सरकारी क्षेत्र में M.tech की मांग बहुत ज्यादा है Lecture और Research के क्षेत्र में अपना भविष्य उज्जवल बना सकते हैं

Architecture

आर्किटेक्चर एक बहुत ही अच्छा और बढ़िया विकल्प है कैरियर को सफल और संयोग बनाने के लिए अगर आपका रुचि ड्राइंग, डिजाइन, प्लानिंग, स्ट्रक्चर बनाने में है तो आपके लिए यह कोर्स एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है Architecture का कोर्स पूरा होने के बाद आपके पास कई सारे ऑफर ऐसे होंगे जिससे आप फॉरेन कंट्री में जाकर खूब सारे पैसे कमा सकते हैं और हमारे भारत देश के गवर्नमेंट ऑर्गेनाइजेशन के साथ काम कर सकते हैं 

Bachelor of science

12th Non Medical के बाद अगर आप B.SC करने की सोच रहे हैं तो यह एक अच्छा और बहुत ही बढ़िया विकल्प है M.SC की डिग्री पूरी होने के बाद आप B.SC की डिग्री भी ले सकते हैं और इसमें अपने कैरियर को ऊंचाइयों पर ले जा सकते हैं B.SC में कुछ विषयों के नाम जैसे

Bsc Agriculture, Horticulture, Forestry, IT, Computer Science, Chemistry, Physics, Mathematics, Electronics, Hotel Management Biotechnology, Nautical Science, Environmental Science, And Electronics Or Communication है

Mathematics/statistics

जिन छात्रों की रुचि गणित के विषयों में है और छात्र statistics (B.STAT) में ग्रेजुएट या Mathematics B.Math मैं ग्रेजुएट कर सकते हैं जिन संस्थाओं से इस course को किया जा सकता है उनमें से एक संस्था Indian Statistical Institute (ISI) कोलकाता है

यह Institute teaching research or statistics के अनुप्रयोगों पर आधारित है इसमें सफल कैरियर को बनाने में Banking Insurance और Finance Sector के कई प्राइवेट और सरकारी संगठन शामिल हैं यह वह परियोजना Development Research Operations Commercial Survey और शेयर बाजारों में Numerical Analysis के लिए मैथमेटिक्स के रूचि वाले छात्रों के लिए बहुत सी कंपनियां में भर्तियां करवा कर छात्रों को रोजगार प्रदान करती है और उनको एक अच्छे पद की नौकरी मिल जाती है

मैनेजमेंट

12th के बाद जो भी छात्र बैचलर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन BBA कोर्स को करना चाहता है वह एक अच्छे भविष्य की शुरुआत कर रहे है MBA, PGDBA DIPLOMA COURSE के लिए cat, Mate जैसी कोर्सेज 12th के बाद कर सकते हैं 

BBA Bachelor Of Business Administration 

बीबीए कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है बीबीए कोर्स की डिग्री पूरी होने के बाद आप एमबीए कोर्स कर सकते हैं MBA का पूरा नाम Master Of Business Administration होता है

BBA and MBA integrated course

जो भी छात्र यह कोर्स करना चाहते हैं उन्हें इस कोर्स को पूरा करने उन छात्रों को एमबीए की डिग्री के लिए अलग से आवेदन नहीं करना पड़ता है और फिर इंटीग्रेटेड कोर्स को पूरा करने के बाद दोहरी डिग्री यानी है बीबीए और एमबीए पास हो जाता है

BMS Bachelor Of Management Studies 

BMS course की अवधि 3 वर्ष की होती है यह कोर्स Traditional Management Education और कुछ कॉमर्स पर भी आधारित रहता है

LAW

जिन भी छात्रों को कानूनी शिक्षा प्रदान करने की चाहत है अपने सूज भुज के अनुसार LAW का चुनाव कर सकते हैं यह शिक्षा एक मात्र कानूनी शिक्षा होती है इस डिग्री को पूरा करने वाले छात्रों को एडवोकेट के रूप में माना जाता है कानून व्यवस्था का एक रूप है जिसे हम Bar Counselling Of India BCI law एजुकेशन का मुख्य Regulated System माना जाता है

LLB कोर्स के पूरा हो जाने के बाद अगर आप चाहें 1 या 2 साल लंबे Master Of Law (LLM) और Doctor Of Philosophy PHD भी कर सकते हैं

जो छात्र LLB की डिग्री पूरा कर लेते हैं और उनकी रूचि किसी अन्य Integrated MBA- LLM / MBA-LLM में है तो एलएलबी में प्रवेश पाने के लिए उन छात्रों को CLAT (Common Law Admission Test) से उत्तीर्ण करना होता है यह परीक्षा राष्ट्रीय विविध विधि विश्वविद्यालयों और संस्थानों में प्रवेश लेने के लिए आयोजित की जाती है एलएलबी पूरा हो जाने के बाद BCI छात्रों को प्रैक्टिस सर्टिफिकेट प्रदान करती है प्रेक्टिस करने के लिए उम्मीदवारों को All India Bar Examination को AIEEE उत्तीर्ण करना होता है

Computer application science

यह विकल्प उन छात्रों के लिए है जिनकी रुचि आईटी सेक्टर में गहरी होती है जिन छात्रों की रुचि तुरंत सोचने और ढेर सारी गुणों से भरी होती है यह अप्लीकेशन साइंस उन छात्रों के लिए है

कैरियर के विकल्प software Consultants,  Software Developers, Web Designers, Web programmers, Technical Writers etc. छात्र Delhi University, Symbiosis Institute Of Computer अध्ययन जैसे प्रमुख विश्वविद्यालयों और कॉलेजों से कंप्यूटर एप्लीकेशन साइंस बीसीए और पोस्ट ग्रेजुएशन एमसीए में ग्रेजुएट कर सकते हैं 

Hotel management

यह कोर्स उन छात्रों के लिए है जिन छात्रों की रुचि Hotel, Resort, Aviation Course, और casino में काम करने में है तो वह होटल मैनेजमेंट कोर्स कर सकते है इसमें आपको कई तरह से तैयार किया जाता है जैसे Home Building, Front Office Administration, और Food Production जैसे विभिन्न कार्यों के बारे में पढ़ाया तथा प्रैक्टिकल भी कराया जाता है छात्रों को तीन-चार वर्षों के लिए BSC B.A. इन होटल मैनेजमेंट कोर्स करवाया जाता है होटल मैनेजमेंट कोर्स को पूरा करने के बाद अपने कैरियर को बढ़ाने के लिए Hotels, Culinary Field, में Lifestyle Businessman Management की ओर सिखाया और पढ़ाया जाता है

NDA(National Defence Academy)

NDA का फुल फॉर्म National Defence Academy है जो छात्र NDA Course को अप्लाई करते हैं वह छात्र सशस्त्र बल सेना, नौसेना, और वायु सेना में से किसी एक वर्ग को select कर सकते हैं और एनडीए में उन्हें तीनों वर्गो की पढ़ाई कराई जाती है NDA में शामिल होने की आयु सीमा 16.5 से 19.5 वर्ष तक की होती है

UPSC द्वारा एनडीए की परीक्षा आयोजित की जाती है हर साल एनडीए की परीक्षा मार्च और अगस्त के बीच में दो बार आयोजित की जाती है इसके Entrance Exam के पेपर हमें तीन चरणों में निकालना होता है पहले Written Examination Service Selection Board, Interview और Medical सभी को क्लियर करना पड़ता है अर्थात छात्र का चयन उसके मेरिट के आधार पर निर्भर रहता है 

एनडीए का कोर्स 3 वर्ष का होता है और यह एक अधिकारी लेवल का कोर्स होता है इस कोर्स में छात्रों को थ्योरी तथा प्रैक्टिकल दोनों की पढ़ाई कराई जाती है छात्र के Admission होने के पश्चात उन्हें 6 शर्तें पूरी करनी होती है एनडीए कोर्स कंप्लीट होने के बाद उम्मीदवारों को Armed Force Division के अनुसार उनके संबंधित ज्ञान और अनुभव के साथ उन्हें संस्थानों में भेजा जाता है सेना के छात्रों को 1 वर्ष के प्रशिक्षण के लिए IMA (Indian Military Academy) भारतीय सैन्य अकादमी में भेजा जाता है और उन्हें उसके बाद लेफ्टिनेंट के रूप में एक रैंक पद दिया जाता है और फिर उन्हें अधिकारी के रूप में भारतीय सेना में शामिल किया जाता है एनडीए की परीक्षा जो भी छात्र पास करता है वह तीनों में से किसी में भी उसका चयन होता है तो एक अधिकारी पद पर ही होता है 

Technical entry scheme

12th के बाद आप TECHNICAL ENTRY SCHEME (TES) के द्वारा एक अधिकारी के रूप में भारतीय सेना में दाखिल हो सकते हैं इस Technical Entry Scheme के बारे में जानने के लिए अखबार में Notification मई, June और October, November के महीनों में छापे जाते हैं

और आप इसे ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं इसके लिए आपकी आयु सीमा 16.5 से 19.5 वर्ष तक होनी चाहिए

जिन छात्रों का मेडिकल एग्जाम क्लियर हो जाता है उन्हें SSB द्वारा आयोजित इंटरव्यू में बुलाया जाता है और फिर क्लियर करने वालों छात्रों की पुष्टि होती है जो छात्र सारे एग्जाम को क्लियर करते हैं उन्हें 5 वर्षों के लिए शिक्षा प्रदान की जाती है पुनः इस कोर्स के बाद उन्हें लेफ्टिनेंट कमांडेंट के रूप में स्थान दिया जाता है फिर उन्हें भारतीय सेना में अधिकारी के रूप में सेवाएं प्रदान की जाती हैं t

Commercial pilot training

12th Non Medical से करने के बाद जो भी छात्र Civil Pilot और Commercial Pilot के रूप में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं उन्हें इस के योग्य बनने के लिए Pilot Aptitude Test और Medical Exam को क्लियर करना होता है हालांकि इसकी पढ़ाई थोड़ी महंगी होती है परंतु स्कोर्स को पूरा करने के बाद आप एक सफल और सुयोग्य जीवन व्यतीत कर सकते हैं

Nautical science

Nutrical science यह कैसा पुरुष है जिसे भारत सरकार के शिपिंग मंत्रालय के अधीन Director General Of Shipping द्वारा संचालित किया जाता है यह कुर्सी एक वायुयान संचालक और मल्ला मल्लाह का काम रहता है इस कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है इन कुल 3 वर्षों में 6 सेमेस्टर होते हैं इस कोर्स में आपको एक जहाज को सुरक्षित रूप से नेविगेट करने और संचालित करने के लिए एक बुनियादी ज्ञान प्राप्त कराया जाता है

मरीन इंजीनियरिंग के द्वारा एक व्यक्ति को एक जहाज का अभियांत्रिकी बनाया जाता है जबकि मरीन इंजीनियरिंग साइंस व्यक्ति को एक डेट अधिकारी बनने का शिक्षा प्रदान करती है इसमें भविष्य की संभावनाएं एक छत सैनिक छात्र दूसरे अधिकारी मुख्य अधिकारी और अंत में एक कप्तान के रूप में होता है अर्थात मरीन इंजीनियर को अलग-अलग रूप में अलग-अलग कार्यों में अलग-अलग विभागों में संयोजित किया जाता है

Hospitality management

Hospitality Management अस्पतालों में अनुशासन व देखरेख के कामों में आता है वह स्वास्थ्य की देखभाल और जो स्वास्थ्य देखभाल करते हैं उनके बीच यह सीधी सेवाएं प्रदान करते हैं हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट के लिए छात्र को एक प्रवेश परीक्षा देनी होती है जिसे Cat,Mt आयोजित करती है हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट के लिए छात्र की योग्यता Graduate 2 Years, Master 2 Years और Doctor Degree MD/M.Phil कर सकते हैं

Tourism

टूरिज्म यह एक ऐसा उद्योग है जिसे देश के लिए सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा पाने की चाहत होती है और यह कई छात्रों को के अंदर रुचि प्रदान करती है इसके लिए छात्रों को अच्छे-अच्छे स्थानों व्यवसायिक राजनीति और सामाजिक व्यवहार के बारे में पूरी जानकारी स्पष्ट रूप से होनी चाहिए

इस कार्य को करने के लिए ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल पर या डिग्री और नॉलेज उपलब्ध होनी चाहिए यह पूरा होने के बाद आप निश्चित रूप से सर्वजनिक और निजी क्षेत्र में एक पर्यटक के रूप में कार्यरत हो सकते हैं

नौकरी और अवसर

  • निजी क्षेत्र
  • पर्यटन विभाग
  • ट्रैवल एजेंसी
  • होटल 
  • Airlines
  • परिवहन
  • निदेशालय

Leave a Reply

Your email address will not be published.