10th के बाद क्या करें ?

10th-के-बाद-क्या-करें पूरी जानकारी

10th के बाद क्या करें ?

नमस्ते दोस्तों हम आपका आपके आपने ब्लॉग costudybuddy.com में स्वागत करते हैं । आज हम इस ब्लॉग पर 10th के बाद क्या करें……विषय पर आपको पूरी जानकारी देंगे ।हम आशा करते हैं कि हमारे इस ब्लॉग पर दी गई सारी जानकारी आपको अपने लक्ष्य के निर्धारण में सहायता करें ,साथ ही साथ 10th के बाद अपनी पढ़ाई के जारी रखने तथा अपने भविष्य का उचित निर्णय लेने में आपका सहभागी बने ,जिससे आप कामयाबी की ऊंचाई के शिखर को छू सकें।

शिक्षा हमारे जीवन का महत्वपूर्ण अंग है।हमारे भविष्य के निर्धारण में शिक्षा की एक अहम भूमिका होती है।वर्तमान समय में शिक्षा का स्तर दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है ,वही कंपटीशन भी बढ़ता जा रहा है ।

हर कोई अपने उज्जवल भविष्य की कामना करता है इसलिए हर कोई अपने भविष्य का निर्धारण सही समय पर अर्थात अपने कैरियर को उज्जवल बनाने के लिए सही समय पर सही निर्णय लेना चाहता है।

इन्हीं कारणों के कारण हर कोई 10वीं की परीक्षा पास करने के बाद 11 वी की कक्षा के विषयों को चयनित करने तथा उचित निर्णय लेने के लिए परेशान रहता है, क्योंकि 11वीं की कक्षा के विषय पर ही हमारा कैरियर निर्भर करता है। इसलिए 11वीं की कक्षा में उन्हीं विषयों का चयन किया जाता है जिन विषयों में हमारी रूचि हो तथा जिस विषय के माध्यम से हम अपना कैरियर बनाना चाहते हो।इसलिए अगर कोई इंजीनियर बनना चाहता हो तो वह PCM (Physics, Chemistry,Math) stream ले, डॉक्टर बनना चाहता हो तो या मेडिकल लाइन में जाना चाहता हो तो PCB (Physics, Chemistry, Biology) stream से पढ़ाई करें,

अगर किसी को बैंक में रुचि हो तो वह Commerce Stream से आगे की पढ़ाई करें इत्यादि स्ट्रीम से 11वीं तथा 12वीं की पढ़ाई करें ताकि वह आगे चलकर अपने करियर की अच्छी शुरुआत कर सकें।

वर्तमान समय में हर कोई अपने करियर के प्रति बहुत ही सजग हो रहा है क्योंकि कैरियर का फैसला करना  या निर्णय लेना कोई आसान काम नहीं है।अर्थात उसका फैसला करना हमारे ही हाथो में है कि हम अपने भविष्य को लेकर क्या apply करते है

10 वी कक्षा के विद्यार्थी अपने 10वीं कक्षा के एग्जाम को पास करने के बाद अपने करियर के बारे में बहुत चिंतित रहते हैं,अपने करियर के लिए उचित मार्ग को चुनने के बारे में बहुत ही उलझन में रहते हैं क्योंकि जब कोई विद्यार्थी दसवीं कक्षा को पास कर लेता है तब आगे की पढ़ाई और करियर को लेकर उस पर बहुत सारी बाहरी दबाव भी होते हैं अर्थात बच्चे के परिवार में जितने भी सदस्य रहते हैं उतनी तरह की बातें करते हैं।

जैसे- पिता जी के हिसाब से बच्चे को Biology stream से पढ़ना चाहिए ताकि वह डॉक्टर बने ,चाचा जी के हिसाब से बच्चे को Maths stream से पढ़ना चाहिए ताकि वह इंजीनियर बने ,बहन की ख्वाहिश होती है कि उसका भाई बैंक में मैनेजर हो….., इत्यादि।इन सब बाहरी दबाव के कारण कभी-कभी विद्यार्थी अपने भविष्य का अर्थात अपने करियर का उचित निर्णय नहीं ले पाते तथा उनके अपनी अपेक्षाओं और रुचि के कारण उनको उचित निर्णय लेने में परेशानी होती है।

साथियों आपका आगे का जीवन साथ ही साथ आपका कैरियर आपके निर्णय पर ही निर्भर करता है।आपका उचित निर्णय ही आपके जीवन को सुखद बना सकता है ,आपके अपने लक्ष्यों की प्राप्ति तथा अपने करियर को सही दिशा निर्देश देने के लिए सावधानीपूर्वक निर्णय लेना और इस निर्णय का अपने व्यवहारिक जीवन में पालन करना ही आपके करियर को सफल बना सकता है। आपको अपना कोई भी कदम उठाने से पहले सभी संसाधनों ( आर्थिक स्थिति ,पारिवारिक स्थिति ,वातावरण आदि) और सभी अवसरों के बारे में उचित जानकारी तथा अपनी क्षमताओं के अनुसार अपने करियर को लेकर उचित निर्णय लेना ही बहुत महत्वपूर्ण होता है।

सफल कैरियर की योजना

किसी भी कार्य को सुचारू रूप से याद अच्छे तरीके से करने के लिए हमें एक योजना बनाने पड़ते हैं जिससे उस कार्य को सफलतापूर्वक पूरा कर सकें।इसी तरह अपने अच्छे कैरियर की शुरुआत के लिए हमें भी एक योजना की आवश्यकता पड़ती है। जैसे -स्वयं के बारे में जानकारी ,निर्णय लेने की क्षमता ,अपनी रुचि ,इत्यादि है।इन सभी के अतिरिक्त हमें अपने माता-पिता, बड़े भाई बहनों ,दोस्तों ,शिक्षकों ,आदि ..अपने बड़ों के सहयोग की जरूरत होती है जो हमें हमारे भविष्य ,हमारे करियर के बारे में सही दिशा निर्देश या सही सलाह दे सके।

अपने भविष्य के बारे में निर्णय लेना किसी के जीवन का अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य होता है क्योंकि इसी  निर्णय पर हमारा कैरियर ,हमारा भविष्य निर्भर करता है।

कैरियर का चुनाव करते समय व्यक्ति को अपनी रुचि अपनी आवश्यकताओं अपनी आर्थिक स्थिति आदि का ध्यान देना बहुत ही जरूरी होता है।

कैरियर का चुनाव करते समय ध्यान देने योग्य बातें…….

एक सफल कैरियर का चुनाव करने के लिए किसी को भी मानसिक तनाव या चिंता से दूर रहने की आवश्यकता होती है क्योंकि हम अगर चिंता में रहेंगे तो कोई भी निर्णय उचित तरीके से नहीं ले पाएंगे।

कभी-कभी हमारा पारिवारिक वातावरण भी हमारे निर्णय को प्रभावित करता है माता-पिता का फैसला तथा उनका बच्चों पर दबाव कि तुमको डॉक्टर ही बनना है या तुमको आईएस ऑफिसर ही बनना है, इंजीनियर ही बनना है इत्यादि ,बातों से बच्चों के दिमाग में अनेक प्रकार के सकारात्मक तथा नकारात्मक दोनों तरह की बातें घूमने लगती हैं जिसके कारण बच्चे अपने भविष्य का उचित फैसला नहीं कर पाते हैं

और अपने करियर को लेकर गलत निर्णय कर बैठते हैं।इसलिए सभी परिवार के सदस्यों का कर्तव्य बनता है कि वह अपने बच्चों का सही मार्गदर्शन करें तथा बच्चों को उनकी रुचि व अपेक्षाओं के अनुसार सही निर्णय लेने में उनकी सहायता करें जिससे छात्र अपने कैरियर के बारे में सही निर्णय ले सके तथा अपने परिश्रम का 100% देकर अपने लक्ष्य की प्राप्ति करें।

11th की कक्षा में लेने वाले स्ट्रीम्स निम्न है…….

1.Science stream with medical ( PCB)

2. Science stream with non medical (PCM)

3. Commerce stream

4.Arts or  Humanities stream

1.Science stream with medical (PCB)

दसवीं की कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद सभी को आगे की पढ़ाई के लिए अपनी अपनी रूचि के अनुसार विषयों का चयन करना पड़ता है ।जो लोग जीव विज्ञान में रुचि रखते हैं ,जिनका सपना डॉक्टर या नर्स , आदि  बनने का होता है ,जो दूसरों की मदद करने के लिए हमेशा आगे रहते हैं ,जिनको  लोगों के बीमारियों का उपचार करने में आनंद प्राप्त होता है ,वह इस स्ट्रीम( PCB) से 11वीं तथा 12वीं की पढ़ाई कर सकते हैं।वर्तमान समय में PCB(भौतिकी ,रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान)को प्रमुख विषयों के साथ पढ़ने में विज्ञान एवं चिकित्सा के क्षेत्र में रुचि रखने वालों को एक प्रमुख अवसर देता है। CH

कहा जाता है कि धरती पर भगवान का रुप डॉक्टरों,नर्सों को माना जाता है और यह मान्यता बिल्कुल सही है ।इस संकट की स्थिति में जब कोरोना काल चल रहा है तब भगवान स्वरूप डॉक्टर ,नर्स तथा चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े सभी लोग आमजन अर्थात हम लोगों के लिए भगवान के समान हैं क्योंकि उन्होंने ही हमें इस संकट से उबारने का प्रयास किया है तथा संकट से बचाया भी है इसलिए विज्ञान स्ट्रीम से पढने वाले लोगों को कड़ी मेहनत और बहुत परिश्रम की आवश्यकता होती है।आप  11वीं तथा 12वीं में पीसीबी स्ट्रीम  से पढ़ने के बाद विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग ले सकते हैं और अपनी रुचि तथा 12वीं के प्रतिशत के आधार पर निम्न पाठ्यक्रमों में से स्नातक स्तर के लिए किसी एक का चुनाव कर सकते है……

एमबीबीएस MMBS ,बीडीएस BDS, नर्सिंग,प्रौद्योगिकी में एक कोर्स,पशु चिकित्सा अध्ययन ,फोरेंसिक विज्ञान के साथ-साथ मानव शरीर से संबंधित अन्य पाठ्यक्रमों के साथ-साथ मानव परिवेश का विकल्प चुन सकते हैं।

2. Science stream with non medical (PCM)

दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद सभी छात्र अपने अपने उच्च अध्ययन के लिए विषयों का चुनाव करते हैं।वे छात्र जो इंजीनियरिंग या गैर चिकित्सा में रुचि रखते हैं ,वे अपने कक्षा ग्यारहवीं व बारहवीं की प्रमुख विषयों और अपने पसंद के अन्य विषयों के साथ विज्ञान विषय में पीसीएम (भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) का चुनाव कर सकते हैं।इन विषयों को चुनने के साथ-साथ आपको ध्यान रखना होगा कि आपको इन विषयों का अध्ययन करने के लिए कठिन से कठिन परिश्रम करना होगा और अगर आपको वास्तव में तकनीकी लाइन में रुचि है तो केवल आपको इन विषयों का ही चुनाव करना होगा।

आज के समय में सभी छात्रों के माता-पिता यह  चाहते हैं कि उनका बच्चा या बच्ची इंजीनियर बने ,इंजीनियरिंग ही उनके बच्चे के लिए सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकि उनका मानना है कि इंजीनियरिंग में पैसा कमाने के साथ-साथ सम्मान भी है और वह माता-पिता अपने इस सोच के कारण अपने बच्चों को इंजीनियरिंग करने पर मजबूर करते हैं।हालांकि माता-पिता भी अपने बच्चों के लिए अच्छा ही सोचते हैं परंतु उस कार्य में बच्चों की रुचि होना भी आवश्यक है इसलिए कैरियर के अन्य विकल्प भी है जो इंजीनियरिंग के समान सम्मान और समान रूप से संतोषजनक कार्य के लिए अवसर प्रदान करते हैं दोस्तों आपके लिए अपनी रूचि और क्षमताओं के आधार पर अपने करियर का चुनाव करना आवश्यक है ताकि आप अपना भविष्य उज्जवल बना सकें।

3. Commerce stream….

Commerce stream उन छात्रों के लिए लाभदायक होता है जो कॉमर्स स्ट्रीम में गणित और गणना में रुचि रखते हैं ।कॉमर्स स्ट्रीम भी एक आकर्षक करियर का विकल्प प्रदान करता है। Commerc stream के निम्नलिखित लोकप्रिय डिग्री व  कोर्स हैं……

B.Com ,BBA ,BMS, BBM, CFP,CFA,CA, आदि हैं।ज्यादातर प्रमुख कॉमर्स कॉलेजों में बिजनेस इकोनॉमिक्स ,फाइनेंशियल अकाउंटिंग ,बिजनेस कम्युनिकेशन ,मार्केटिंग जैसे विषय प्रदान करते हैं, business law ,business finance, auditing, cost accounting, income tax, आदि इनमें से छात्रों को अपनी रुचि का विषय चुनना होता है।

किसी भी छात्र को  11वीं और 12वीं कक्षा में अंग्रेजी और एक अतिरिक्त विषय के साथ कुल 6 विषयों का चयन करना होता है। कॉमर्स स्ट्रीम उन छात्रों के लिए है जो व्यवसाय अध्ययन में रुचि रखते हैं और साथ ही साथ लेखांकन में बहुत अधिक दिलचस्पी रखते हैं, जो छात्र बैंकिंग बीमा स्टॉक ब्रोकिंग या किसी अन्य वित्त से संबंधित नौकरी में अपना करियर बनाना चाहते हो, वे अर्थशास्त्र विषय का चयन कर सकते हैं ।

Arts or  Humanities stream…..

दसवीं की कक्षा पूरी करने के बाद अनेकों छात्र आर्ट्स स्ट्रीम से अपने आगे की पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं। आर्ट्स स्ट्रीम में अनेक विषय है जो छात्रों के लिए रोमांचक करियर के अवसर प्रदान करते हैं। स्ट्रीम का चयन इंजीनियरिंग या मेडिकल की पढ़ाई के अलावा अन्य क्षेत्रों का करियर चुनने के लिए आवश्यक है।यह लाइन उच्च माध्यमिक स्तर के विषय -इतिहास ,भूगोल ,राजनीति विज्ञान, मनोविज्ञान ,समाजशास्त्र ,अंग्रेजी ,हिंदी और संस्कृत विषय को प्रदान करते हैं……।परंतु छात्रों को अंग्रेजी और एक आधुनिक भारतीय भाषा (हिंदी )के अलावा अन्य चार अनिवार्य विषयों को चुनना होगा।

दोस्तों अगर आपको mass media, journalism ,literature ,sociology, social service, human psychology, politics ,economics and history जैसे विषयों में रूचि है तो आपको 11वीं तथा 12वीं की पढ़ाई आर्ट्स स्ट्रीम से करनी चाहिए।

दोस्तों यह सारी जानकारी उन छात्रों के लिए थी जो की समय देकर तैयारी करके अपने अच्छे कैरियर को और अच्छा बना सके।

अर्थात अब हम कुछ ऐसे छात्रों के लिए जानकारियां देने जा रहे हैं  जिनका मन और दिमाग कम लगता हो पढ़ाई में और वह समय को व्यर्थ ना करके जल्द से जल्द किसी मुकाम को पाना चाहते हैं और अपना उज्जवल भविष्य और उज्जवल बना सके ।

10वी के बाद कुछ अन्य पेशा अवसर :- 

1-NDA ( National Defence Academy) –

दोस्तों यदि आप 10th इस वर्ष या पिछले वर्ष पास किए होंगे तो आपकी उम्र 15 से 17 वर्ष  के बीच में होगी दोस्तों 10th के तुरंत बाद अगर हमें कुछ करना है तो आप NDA की Preparation कर सकते हैं

NDA Course थोड़ा कठिन तो है पर नामुमकिन नहीं है थोड़ी सी मेहनत से आप NDA के Exam को Crack कर सकते हैं दोस्तों NDA का पूरा नाम राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (National Defence Academy) है

National Defence Academy Exam Crack करने के बाद आप का चुनाव जल ,थल, वायु, सेना में हो सकता है यह एक अधिकारी लेवल का चुनाव होता है

Note – National Defence Academy NDA का Entrance Exam का फॉर्म UPSC-(Union Public Service Commission) हर साल इस एग्जाम को संयोजित करती है नेशनल डिफेंस एकेडमी में दाखिला तथा फॉर्म अप्लाई करने की उम्र सिर्फ 16.5 वर्ष से लेकर 19.5 वर्ष तक का ही होता है।

NDA की परीक्षा दो चरण में होती है जिसे में पूरा करने के लिए कुल 5 घंटे मिलते हैं 

प्रथम चरण-(First Step)- पहले पेपर Mathematics का होता है और यह पेपर 300 नंबरों का होता है जिसे मैं पूरा करने का समय सिर्फ 2.5 घंटे मिलते हैं

Mathematics से जुड़े कुछ भाग जो परीक्षा में पूछे जा सकते हैं-

  • Algebra
  • Matrix and Determinate
  • Trigonometry
  • Analytical Geometry Of Two And Three Dimensions
  • Differential Calculus
  • Integral Calculus And Differential Equations
  • Vector Algebra
  • Statics And Probability

द्वितीय चरण-(Second Step)- दूसरे पेपर में इंग्लिश और जनरल नॉलेज के प्रश्न पूछे जाते हैं इंग्लिश 200 मार्क्स के होते हैं तथा जनरल नॉलेज 400 मार्क्स के होते हैं पेपर को पूरा करने के लिए हमें 2.5 घंटे का समय मिलता है

English और General Knowledge से पूछे जाने वाले कुछ Subject के नाम-

English- 

  • Grammar And Usage
  • Vocabulary
  • Comprehension And Cohesion

General knowledge-

  • Physics
  • Chemistry
  • General science
  • History freedom movement
  • Geography
  • Current events

2- कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) SSC  मैं सरकारी नौकरी अवसर – 

दोस्तों यदि आप 10th पास कर चुके हैं तो आप SSC के Through करवाए जाने वाले MTS (Multi Tasking Selection)   पेशा के तौर पर आवेदन कर सकते हैं दोस्तों Staff Selection Commission 10th योग्यता वाले विद्यार्थी को अवसर प्रदान करती है तथा आपकी उम्र का चुनाव 18 वर्ष पर करती है आपकी उम्र 18+ से 25 वर्ष के बीच में होनी चाहिए ।

Staff Selection Commission जोकि  MTS Multitasking Selection का Exam कराती है इसमें कुल दो paper देने होते हैं प्रथम व द्वितीय

प्रथम पेपर- प्रथम पेपर में Objective Multi Type के Question आते हैं जिसे हमें Online Bass पर देना होता है प्रथम चरण के पेपर को कुल 4 भागों में बांटा गया है और चारों  को मिलाकर 100 प्रश्न का एक Question Paper बनता है चारों भागों में से 25 25 Question चारों से पूछे जाते हैं और यह 100 नंबर के Paper का होता है

यह एक बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं जिसमें आपको चार उदाहरण दिए जाते हैं हर प्रश्न के जिस में से किसी एक सही का चुनाव करना पड़ता है

पहले चरण को पूरा करने के लिए आपको 90 मिनट का समय मिलता है PWD श्रेणी दृष्टिहीन छात्रों और पीड़ित छात्रों एवं विकलांग छात्रों के लिए 120 मिनट/ 2 घंटे का समय  बनाया गया है

प्रथम पेपर के चार विषयों के नाम

  • General intelligence and reasoning (25)
  • Numerical aptitude (25)
  • General English. (25)
  • General awareness (25) 

और इस Exam मे Minus Marking होती है जिससे आपका एक गलत उत्तर और आपके 0.25 अंक काट लिए जाते हैं 

अगर आप MTS की  प्रथम परीक्षा उत्तीर्ण कर जाते हैं तो आप द्वितीय पेपर के लिए Eligible हो जाते हैं द्वितीय पेपर देने के लिए Apply कर सकते हैं 

द्वितीय पेपर- द्वितीय पेपर में हमें वर्णनात्मक पेपर (Descriptive Paper) पेन और पेपर आधारित परीक्षा होती है  इसे Offline परीक्षा कहते हैं

यह Offline Exam कुल 50 नंबरों का होता है जिसे आप को पूरा करने के लिए सिर्फ 30 मिनट का समय दिया जाता है अर्थात वही शारीरिक रूप से विकलांग छात्रों एवं दृष्टिहीन छात्रों को 45 मिनट का समय दिया जाता है

SSC MTS पेपर दो Qualify Natural  का Exam है इस परीक्षा में को पास करने के लिए निम्नतम 33% अंक प्राप्त करने होते हैं अर्थात आप उससे भी ज्यादा बिगाड़ सकते हैं

SSC MTS Paper दो का मुख्य उद्देश्य यही होता है छात्रों की भाषा कुशलता व्याकरण शब्दावली उपयोग और लेखन कौशल के ज्ञान का परीक्षण करना होता है 

छात्रों को 30 मिनट के अंतराल में  250 शब्दों का इस्तेमाल करके एक निबंध लिखना होता है या फिर  150 से लेकर 200 शब्दों का उपयोग करके एक आवेदन पत्र लिखना होता है

  •  Letter writing
  • Essay writing

Essay On Letter Writing कुछ Hint

  • Grammar
  • Appropriate word
  • Sentence structure

3- सेना में सरकारी नौकरी अवसर :- 

दोस्तों आप आठवीं और दसवीं पास करने के बाद सेना में आवेदन कर सकते हैं सेना के भर्ती के लिए न्यूनतम योग्यता 8 पास और 10 पास की होनी चाहिए और आठवीं और दसवीं के हर विषय के अंक न्यूनतम 45% से ऊपर के होने चाहिए अगर आपका हर विषय में  45% से ऊपर है तो आप आठवीं और दसवीं पास करने के तुरंत बाद सेना में भर्ती होने के लिए तैयार हैं

यह एक ऑनलाइन भर्ती होती है जिसका चयन दौड़ ,फिजिकल एवं मेडिकल पर होता है अगर आप यह पास कर जाते हैं इसके बाद आपको लिखित परीक्षा के लिए बुलाया जाता है  यह एक खुली भर्ती होती है 10वीं पास के छात्रों की आयु सीमा 17.5 से 23 तक रखी गई है तथा वहीं आठवीं पास के भी छात्रों की आयु सीमा 17.5 से 23 रखी गई है

हर साल इस परीक्षा को आयोजित किया जाता है जिसमें किसी भी राज्य के छात्र शामिल हो सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.