ipc 225 kya hai?

ipc 225 kya hai?

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब आशा करता हूं आप सभी स्वस्थ होंगे।

दोस्तों आज हम आप सभी को ipc 225 kya hai? के बारे में संपूर्ण जानकारी देने का पूरा प्रयास करेंगे ipc 225 kya hai? से जुड़े कानूनी जानकारी से अवगत कराएंगे

*हमारी costudybuddy ( को स्टडी बडी ) की टीम के सारे सदस्यों की यही प्रयास है कि आप सभी को शिक्षा व कानून तथा अन्य किसी भी समस्या से जुड़ी जानकारियां आप लोगों तक आसान व सरल भाषा में पहुंचा सके*

IPC 225 के विषय में आपको इस लेख के माध्यम से बताने जा रहा हु आप हमारे साथ ऐसे ही अंत तक बने रहिए 

आशा करता हूं हमारे द्वारा किया गया प्रयास आपको जरूर पसंद आएगा तो आइए जानते हैं ipc 225 kya hai ?

अन्य व्यक्ति के विधि के अनुसार पकड़े जाने में प्रतिरोध या बाधा

जो कोई किसी अपराध के लिए किसी दूसरे व्यक्ति के विधि के अनुसार पकड़े जाने में साशय प्रतिरोध करेगा या अवैध बाधा डालेगा, या किसी दूसरे व्यक्ति को किसी ऐसी अभिरक्षा, से जिसमें वह व्यक्ति किसी अपराध के लिए विधि पूर्वक निरुद्ध, हो साशय छुड़ाएगा या छुड़ाने का प्रयत्न करेगा, वह दोनों में से किसी भाती के कारवास से, जिसकी अवधि 2 वर्ष तक हो सकती है तथा उसे जुर्माना भी देना पड़ सकता है अर्थात इसे दोनों से दंडित किया जा सकता है

यह भी पढ़े

ipc 225 से जुडी कुछ अन्य अपराध  व सजा 

अथवा यदि उस व्यक्ति पर जिसे पकड़ा जाना हो या छुड़ाया गया हो या जिसके छुड़ाने का प्रयत्न किया गया हो आजीवन कारावास से या 10 वर्ष तक की अवधि के कारावास से दंडित अपराध का आरोप हो या व उसके लिए पकड़े जाने के दायित्व के अधीन हो तो वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से जिसकी अवधि 3 वर्ष तक की हो सकेगी दंडित किया जाएगा और जुर्माने से भी दंडनीय होगा।

अथवा यदि वह व्यक्ति जिसे पकड़ा जाना हो या जो छुड़ाया गया हो या जिसके छुड़ाने का प्रयत्न किया गया हो मृत्यु दंड आदेश के अधीन हो तो वह आजीवन कारावास से या दोनों में से किसी भांति के कारावास से दंडित किया जाएगा और जुर्माने से भी दंडनीय होगा।

अथवा यदि उस व्यक्ति पर जिसे पकड़ा जाना हो या जो छुड़ाया गया हो या जिसके छुड़ाने का प्रयत्न किया गया हो मृत्युदंड से दंडनीय अपराध का आरोप हो या वह उसके लिए पकड़े जाने के दायित्व के अधीन हो तो वह दोनों में से किसी भांति के कारावास से जिसकी अवधि 7 वर्ष तक की हो सकती है उसे दंडित किया जाएगा अर्थात उसे  जुर्माने दोनो से दंडनीय होगा।

निष्कर्ष

मित्रों इसी के साथ हमारा यह लेख समाप्त होता है हम आशा करते हैं हमारे प्यारे मित्रो को हमारे द्वारा किया गया प्रयास आप सभी  पसंद आया होगा। तथा तथा आईपीसी 225 की जानकारी आप सभी को पूर्ण रूप से हो गई होगी

मित्रों मित्रों अगर आपको इस सवाल से जुड़ी या किसी अन्य कानून व्यवस्था से जुड़ी जैसे आईपीसी सीआरपीसी सीपीसी इत्यादि किसी भी कानून से जुड़ी सवालों की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में निसंकोच होकर कमेंट करके आप हमसे जानकारियां इकट्ठा कर सकते हैं और जैसे ही आप हमें कमेंट सेक्शन में अपनी परेशानियों को साझा करेंगे हमारा हमारे पूरी टीम का यही प्रयास होगा कि हम जल्द से जल्द आपके प्रश्न का उत्तर आसान व सरल भाषा में आपको दे सकें

मित्रों आप हमारे टीम के हौसलों को बढ़ाने में मदद करना चाहते हैं तो हमारे इस ब्लॉग पेज costudybuddy.com को लाइक करिए तथा अपने दोस्तों के साथ इस आर्टिकलब्लॉगपेज को शेयर करिए जिससे आपका प्यार हमारे टीम के सभी सदस्यों को हौसलों को बढ़ाएगा और जिसके साथ आपको और भी अच्छी तरीके व आसान भाषा में जानकारियां आप तक पहुंचाने में हम संपूर्ण प्रयास करेंगे 

धन्यवाद आपका अपना साथी costudybuddy.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.